कैसे बीतता होगा शहीदों के माँ का दिन, जिसने अपने लाल को खो दिया




 VIKASH SHUKLA

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में CRPF के काफिले पर हुए आतंकी हमले ने सभी की नींद उड़ा कर रख दी है। इस हमले में 40 जवान शहीद हो गए हैं। ये सभी जवान अपनी छुट्टी से ड्यूटी पर वापस लौट रहे थे।

उस मां के ऊपर क्या बीत रही होगी जिसे इस तोहफे के रूप में मिला हो उसके बेटे का पार्थिव शरीर ? उस मां का कलेजा फट सा गया होगा और मुंह से चीखें निकल गई होंगी। वो मां जिसने खुद को दुख देकर अपने बेटे की लालन-पालन किया हो,

वो मां जिसने किसी भी मौसम की परवाह किए बिना अपने जिगर के टुकड़े को हर दर्द से उबारा हो आज वही मां अपने बेटे को इतनी गहरी नींद में सोते हुए देख के कितनी परेशान और बेबस हुई होगी इसका अंदाजा भी लगा पाना समंदर की गहराई नापने के बराबर मुश्किल है।

कैसे बीता है उन माँ का दिन.एक परिवार ने अपने बेटे को खो दिया तो एक बहन ने डोली को कांधा लगाने वाले भाई को हमेशा के लिए खो दिया था । लेकिन देश को शहीद के ऊपर फर्क है । सिर झुकाकर उनकी शहादत को देश सलाम करता है ।

Comments